cover

सोशल मीडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जिसका इस्तेमाल आज की जिंदगी मे सब से ज्यादा हो रहा है। यह मीडिया बाकि सारे मीडिया से अलग है जैसे की प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और कई अन्य मीडिया।

आज की जिंदगी में सोशल मीडिया बहोत ही मायने हो गया है लोगो के जीवन में, सोशल मीडिया का उद्देश्य हालांकि आज की इंटरनेट की दुनिया में कहीं जानकारी साझा करना तो कहीं मनोरंजन करना और कहीं अपने आप को शिक्षित करना हो गया है।

परन्तु आज हम सब जानना चाहते है सोशल मीडिया क्या वाकई सोशल है ?

क्या सोशल मीडिया के फायदे हैं या फिर नुकसान? अगर आज के लोगो का माने तो यह एक ऐसा प्लेटफार्म है जो कि परंपरागत तरीके से नहीं बल्कि अपरंपरागत तरीके से काम करता है।

यह मीडिया एक सकारात्मक भूमिका भी अदा करता है जिसके कारण हम नयी खबरों से जुड़े रहते हैं और तो और इनके कारण हम दुनिया के किसी भी जगह से आमने सामने बात कर सकते है। बस इतना ही नहीं सोशल मीडिया प्लेटफार्म जैसे की फेसबुक, इंस्टाग्राम और व्हाट्सअप्प पर अपने दोस्तों और परिवार से जुड़े रह सकते है।

यूँ तो सोशल मीडिया के कई उदाहरण देखे जा सकते हैं, जिसमे आनेवाले नए मोबाइल फ़ोन के लांच से लेकर नयी खबर का वर्णन किया जाता है।और अगर बात करे हम पिछले इलेक्शन की तो उसमे भी सोशल मीडिया का उपयोग बहोत ही जोरो से किया गया और इसके कारण आम से आम लोगो तक वोटिंग की अपील की गई।

हम ऐसे कई उदाहरण देखते हैं, जो कि उपरोक्त बातों को पुष्ट करते हैं जिनमें 'INDIA AGAINST CORRUPTION' को देख सकते हैं, जो कि भ्रष्टाचार के खिलाफ महाअभियान था जिसे सड़कों के साथ-साथ सोशल मीडिया पर भी लड़ा गया। इसके ही कारण आज लोग आपने आप को या फिर अपने किसी भी उत्पादन को लोकप्रिय बना सकते है। आज फिल्मों के ट्रेलर, टीवी प्रोग्राम का प्रसारण भी सोशल मीडिया के माध्यम से किया जा रहा है। वीडियो तथा ऑडियो चैट भी सोशल मीडिया के कारन जल्द ही जल्द करना संभव हुआ है।

जहाँ सोशल मीडिया के सकारात्मक उपयोग से हम बहोत कुछ कर सके है लेकिन इसका कहीं लोग दुरूपयोग भी करते है, जिसके कारण लोगो में दूरिया भी आ सकती है। जैसे किसी भी वीडियो और संदेश का सच क्या है बिना जाने हम उसको देख कर सच मान लेते है, जब की इन सभी के कारण किसी भी व्यक्ति की भावनाओ को चोट लग सकती है और उनके बिच दूरी आने का कारण यह सोशल मीडिया बन सकता है।

कई बार तो इसका दुरूपयोग इतना बढ़ जाता है कि सरकार सोशल मीडिया के गलत इस्तेमाल करने पर सख्त हो जाती है और हमने देखा है कि सरकार को जम्मू-कश्मीर जैसे राज्य में सोशल मीडिया पर प्रतिबंध तक लगाना पड़ता है।

मेरे प्यारे दोस्तों जिस प्रकार धूप और छाँव एक ही दिन के दो पहलू है ठीक इसी प्रकार सोशल मीडिया भी अगर सही तरीके से इस्तेमाल किया जाये तो उसके बहोत से फायदे हैं और अगर गलत तरीके से इस्तेमाल किया जाये तो नुक्सान।